डार्क वेब, डीप वेब और सर्फेस वेब क्या है - What is Dark Web, Deep Web and Surface Web - Hindi Tricks Payo

Breaking

HEAD

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, November 26, 2018

डार्क वेब, डीप वेब और सर्फेस वेब क्या है - What is Dark Web, Deep Web and Surface Web

डार्क वेब, डीप वेब और सर्फेस वेब क्या है - What is Dark Web, Deep Web and Surface Web




दोस्तों, अगर आप इन्टरनेट पर नियमित रूप से एक्टिव रहते हैं तो आपको मालूम होगा की डार्क वेब 
(Dark Web) क्या होता है अगर नहीं मालूम है तो आपको मालूम होना चाहिए की आखिर डार्क वेब (Dark Web) किसे कहते हैं. आपको बता दें की आप जिस इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं और कुछ भी सर्च करते हैं किसी भी वेबसाइट पर बड़ी आसानी से चले जाते हैं उसे सर्फेस वेब कहते हैं जो की पुरे इन्टरनेट के मात्र 5% ही है बाकि के 95% डीप वेब (Deep Web) और डार्क वेब (Dark Web) हैं.



दोस्तों, इन्टरनेट एक्सिस कर पाने के लिए उसे तिन भागो में बांटा गया है.


1. डार्क वेब (Dark Web)
2. डीप वेब ( Deep Web)
3. सर्फेस वेब (Surface Web)

डार्क वेब का क्या अर्थ है? (Dark Web)

आपको मालूम होगा की आप जो भी सर्च करते हैं उसकी सारी जानकारी इन्टरनेट प्रोवाइडर को रहती है जैसे की गूगल या याहू लेकन डार्क वेब 
(Dark Web) में ऐसा बिलकुल भी नहीं होता है. यहाँ पर पूरी जानकारी छिपी होती है या फिर छिपाई जाती है यहाँ तक की आईपी एड्रेस विवरण जानबूझकर छिपाए जाते हैं।इसका प्रयोग इंटरनेट पर सभी प्रकार के गैर कानूनी काम करने के लिये किया जाता है जैसे ड्रग्स खरीदना व बेचना, किसी भी तरह का ख़तरनाक से ख़तरनाक हथियार खरीदना व बेचना, मानव तस्करी, ATM Debit/Credit Card की जानकारी चुराकर किसी को बेचना आदि, डार्क वेब (Dark Web) पेज पर आम तरीकों से नहीं पहुॅचा जा सकता है, यहां पहुुॅुचने के लिये लोग एक अलग ब्राउजर का इस्‍तेमाल करते हैं, जिसे टॉर कहते हैं, TOR एन्क्रिप्शन टूल से डार्क वेब (Dark Web) पेज को एनक्रिप्ट किया जाता है ये साइट छुप जाती है, सर्च इंंजन इसे इंडेक्स नहीं पाते और यह सिर्फ टॉर ब्राउजर पर ही दिखती हैं. 

डीप वेब का क्या अर्थ है? ( Deep Web)


कुछ साल पहले तक डीप वेब
 (Deep Web) और डार्क वेब (Dark Web) को एक ही मन जाता था लेकिन कुछ गैरकानूनी गतिविधियो के करण इसे दो भागो में बाँट दिया गया है जिसे डार्क वेब (Dark Web) और डीप वेब (Deep Web) कहते हैं. आप उपर में द्फिये गये जानकारियों से समझ गये होंगे की डार्क वेब (Dark Web) किसे कहते हैं लेकिन मैं अब आपको बताऊंगा की डीप वेब (Deep Web) किसे कहते हैं. क्या आपके नेट बेंकिंग की जानकारी कोई दूसरा व्यक्ति प्राप्त कर सकता है? या फिर बैंक की सारी जानकारी कोई भी पत्ता कर सकता है? या फिर आपके पर्शनल इमेल को कोई भी पढ़ सकता है? आपका जवाब नहीं होगा लेकिन ऐसा क्यों नहीं होता है क्योंकि ऐसा होना चाहिए क्योंकि सारी जानकारियां इन्टरनेट पर मौजूद है. आप नेट बेंकिंग इन्टरनेट पर करते हैं बैंक के सभी काम नेट से होते हैं तो वो जानकारी हमे क्यों नहीं मिलती है. तो इसका एक ही जवाब होगा की सारी जानकारी छिपाई होती है जो गूगल या फिर कोई नार्मल वेबसाइट उन्हें एक्सिस करने की अनुमति नहीं देते हैं क्योंकि इससे पर्शनल डाटा चोरी हो सकती है. लेकिन डीप वेब (Deep Web) से ये सभी जानकारी को पता किया जा सकता है जो आप गूगल और याहू पर नहीं कर सकते हैं वो आप डीप वेब (Deep Web) पर कर सकते हैं. डीप वेब (Deep Web) के अंतर्गत जो पेज आते हैं वह है ब्लोग्स प्लेटफोर्म, रिसर्च, गवर्मेंट की डाटाबेस आदि. इसे कभी - न्यूज़ एजेंसिया भी यूज करती है किसी की पोल खोलने में.




सर्फेस वेब का क्या अर्थ है ? (Surface Web)





दोस्तों, आमतौर पर सभी लोग जिस इन्टरनेट का इस्तेमाल करते है जिसके लिए हमे किसी प्रकार की परमिशन की आवश्यकता नहीं होती है उसे सर्फेस वेब कहते हैं. सर्फेस वेब पर पहुँचने के लिए गूगल और बिंग का सहारा लेते हैं जो हमे जानकारियां उपलब्ध कराती है. आप जिस वेबसाइट पर यह पोस्ट पढ़ रहे है उसे सर्फेस वेब ही कहते हैं जो गैरकानूनी नहीं है. आपको जानकर हैरानी होगी जिस इन्टरनेट का इस्तेमाल सभी लोग आसानी से कर पाते हैं यानि सर्फेस वेब पुरे इन्टरनेट के मात्र 5% ही है बाकि के 95% डार्क वेब 
(Dark Web) और डीप वेब (Deep Web) हैं जहाँ पर गैरकानूनी धंधे चलते हैं.

Tag - What is the deep, dark and surface web. dark web kya hai. deep web kya hai. surface web kya hai. what is black internet. dark web search engine. deep web search engine.





No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here